• Thursday, January 20, 2022
Breaking News

मामा का लॉलीपाप चूसते कांग्रेसी!

चच्चा की बातें Feb 25, 2017       4003

The Current Story

भोपाल 

NGO और ठेकों का स्वाद ही अलग है!

-लो कर लो बात

हमाये चच्चा बड़े नाराज़ से मुझसे मिलने आये और कहने लगे की मियां फ़र्ज़ी भतीजे मध्य प्रदेश में कांग्रेसी तो लॉलीपाप चूस रहे हैं.

मैंने कुछ समझने की जहमत ही नहीं उठाई, क्योंकि वो तो सीधे अपनी बात कहने लगे की-

"मियां फ़र्ज़ी भतीजे, मध्य प्रदेश में कांग्रेस का हाल ऐसा ही है जैसे तमाशबीन लोगों का। हर मामले में चुप। यहाँ तो कांग्रेसी (प्रदेश) मुखिया के कार्यक्रम में बमुश्किल 10 या 12 पदाधिकारी ही दिखते हैं, अब कांग्रेसी क्यों करें प्रदर्शन, उन्हें मामा (शिवराज सिंह चौहान) ने ठेके और NGO के लॉलीपाप जो दे दिए हैं! इसके कई उदाहरण मिलेंगे, जिसमे राजधानी भोपाल के कई कार्यक्रम (विरोध प्रदर्शन, आदि) में केवल 3 या 4 हीे नेता दिखे, वो भी छुटभैया! (हीहीही) वो भी केवल फेसबुक या सोशल मीडिया में हीरो बनने के लिए!" 

अब चच्चा NGO और ठेका कहाँ गए?

"सुनो मियां, यह जो भी फोटो में दिखते हैं, उन पर कई धोखाधड़ी और गोलमाल के मामले की जांच चल रही है, इसलिए मामा के आगे नतमस्तक हैं। और तो और इनमें कई नेता ऐसे हैं जो केवल पद में बने रहकर अपनी अगरबत्ती (व्यवसाय) जलाने में ही भलाई समझते हैं।"

आप की बात मैं नहीं समझा चच्चा ?

"मियां यही तो खेल है, कांग्रेसी यही चाहते हैं, नहीं तो व्यापम और डंपर घोटाला काण्ड जैसे मामले ऐसे ही दब नहीं जाते! वहीँ भोपाल जिलाध्यक्ष के कार्यक्रम में उनकी कार्यकारिणी के ही लोग उपस्थित नहीं होते।"

"जो कांग्रेसी आ नहीं रहे और जो सिर्फ फोटो खिंचवा रहे हैं, उनके नाम पर कहीं NGO और ठेका तो नहीं चल रहे? इसे समझो और जय बोलो मामा के लॉलीपाप की जोे कांग्रेसियों को केवल नेता प्रतिपक्ष बनने के सपने ही दिखा रहा है।"

इतना कहकर चच्चा चल दिए पर सोचने के लिए मजबूर कर गए की- "क्या वाकई में कांग्रेसी मामा द्वारा दिए गए लॉलीपाप चूस रहे हैं?"

-लो कर लो बात

Related News

जितनी शिकायत होगी, उतना जीतेगी पार्टी

Oct 23, 2018

मिले दिशा निर्देश... लो कर लो बात चुनावी सरगर्मियों के बीच भाजपा के प्रदेश कार्यालय में खड़ा था। कौन जीतेगा और कौन हारेगा की चर्चाओं के बीच किसी ने मेरे कान में कहा कि 'जितनी शिकायत होगी, उतना जीतेगी पार्टी'। चौंककर पीछे पलटकर पीछे देखा तो एक 'चच्चा' मुस्कुरा रहे थे। मैने पूछा ऐसा किसने कहा तो चच्चा ने मुस्कुराते हुए कहा​ कि... 'मियां फर्जी भतीजे, पिछले दिनों दिल्ली से आए, पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी...

Comment