• Sunday, June 07, 2020
Breaking News

लोक निर्माण विभाग में ऐसे होता है भ्रष्टाचार, बावड़िया कलां पुल निर्माण में बंटे करोड़ो

मध्यप्रदेश Nov 19, 2019       502
लोक निर्माण विभाग में ऐसे होता है भ्रष्टाचार, बावड़िया कलां पुल निर्माण में बंटे करोड़ो

प्रवेश गौतम, भोपाल। मध्यप्रदेश में भले ही सरकार बदल गई हो, लेकिन कुछ नहीं बदला है तो वह है भ्रष्टाचार और बंदरबांट। अधिकारियों और नेताओं की मिलीभगत इस प्रकार है कि आम आदमी के पैसों की बर्बादी करने में किसी को कोई भी डर नहीं है। प्रदेश की राजधानी भोपाल के बावड़ियां कलां स्थित रेलवे ओवर ब्रिज :पुल: के निर्माण में भ्रष्टाचार इस कदर हुआ कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने ठेकेदार से बैंक खाते तक में पैसे ले लिए। इसे आत्म विश्वास कहें या फिर सिस्टम में सेटिंग। द करंट स्टोरी ने जब इस मामले की पड़ताल की तो अधिकारियों ने हमें भी पैसों की पेशकश कर दी।

दरअसल, इस पुल ​का निर्माण लगभग 35 करोड़ रूपए की लागत से किया जा रहा है। इसका ठेका गुजरात की कंपनी रचना कंस्ट्रक्शन को मिला है। नियमानुसार रचना कंस्ट्रक्शन को यह काम स्वयं करना था, लेकिन खुलेआम पुल के निर्माण का कार्य पेटी पर भावना कंस्ट्रक्शन को दे दिया गया। ऐसा नहीं है कि इस बात की जानकारी लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को नहीं थी, बावजूद इसके किसी भी अधिकारी ने इस पर आपत्ति नहीं ली।

ठेका प्राप्त होने के बाद से ही विभाग ने निर्माण एजेंसी को आंख बंद करके मदद करना प्रारंभ कर दिया। बदले में ​लगभग सभी को मिले लाखों रूपए। एक अनुमान के अनुसार पूरे ठेके में अभी तक लगभग दो करोड़ रूपए लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को बांटे गए हैं। पड़ताल के दौरान लोक निर्माण विभाग के एक अधिकारी ने द करंट स्टोरी को ढाई लाख रूपए का प्रलोभन भी दिया गया। इसके पीछे उद्देश्य था कि सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत दस्तावेज न लिए जाएं। पुल के निर्माण में सीमेंट, सरिया, सहित कई प्रकार के काम निर्धारित मानकों में नहीं किए गए, नतीजा यह हुआ कि ठेकेदार को करोड़ों की बचत हुई। इसी बचत में से ठेकेदार ने लोक निर्माण विभाग के अधि​कारियों व कर्मचारियों सहित प्रोजेक्ट की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए नियुक्त की गई कंसलटेंसी को भी मोटी रकम दी।

मामले से जुड़े कई तथ्य जब द करंट स्टोरी ने विभाग के एक इंजीनियर से साझा किया तो उन्होंने कई प्रकार के प्रलोभन देने का पूरा प्रयास किया। बाद में इन्हीं इंजीनियर ने कई और खुलासे कर दिए। पूरे मामले को लेकर द करंट स्टोरी की पड़ताल जारी है, इसके पूरे होने के बाद सक्षम जांच एजेंसी के समक्ष समस्त जानकारी प्रस्तुत की जाएगी।

Related News

मप्र में भाजपा ने उपचुनाव के लिए प्रभारियों की नियुक्ति की

Jun 06, 2020

द करंट स्टोरी। भारतीय जनता पार्टी की मध्य प्रदेश इकाई ने विधानसभा के उपचुनाव की तैयारियां तेज कर दी हैं इसी क्रम में 24 विधानसभा क्षेत्रों के लिए विधानसभा प्रभारियों की नियुक्ति कर दी गई है। ये विधानसभा सीटें कांग्रेस के 22 विधायकों के इस्तीफे और दो अन्य विधायकों के निधन से रिक्त हुई हैं। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय प्रभारी सत्येंद्र भूषण सिंह ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा और प्रदेश...

Comment