• Tuesday, January 28, 2020
Breaking News

कमलनाथ के गढ़ में चॉपर उतारने की नहीं मिली इजाजत, शिवराज ने कलेक्टर को दी चुनौती

मध्यप्रदेश Apr 24, 2019       446
कमलनाथ के गढ़ में चॉपर उतारने की नहीं मिली इजाजत, शिवराज ने कलेक्टर को दी चुनौती

द करंट स्टोरी। शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में हेलीकॉप्टर लैंडिंग की परमिशन नहीं मिली. उन्होंने इसके बाद जनसभा संबोधित करते हुए कलेक्टर को खुली चुनौती दे दी.

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उस समय नाराज हो गए जब उन्हें मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में हेलिकॉप्टर लैंडिंग की परमिशन नहीं मिली. उन्होंने इसके बाद जनसभा संबोधित करते हुए कलेक्टर को खुली चुनौती दे दी.

दरअसल, शिवराज सिंह चौहान को छिंदवाड़ा से बीजेपी प्रत्याशी नत्थन शाह के प्रचार के लिए गुंडमंडी से उमरेठ जाना था. लेकिन, हेलिकॉप्टर लैंडिंग की परमिशन नहीं दी गई. जिसके बाद सीएम शिवराज ने जनसभा को संबोधित करते हुए मंच से छिंदवाड़ा कलेक्टर को सीएम कमलनाथ का पिट्ठू बताते हुए कहा, 'ए पिट्ठू कलेक्टर सुन ले रे, हमारे भी दिन आएंगे, तब तेरा क्या होगा.'

उन्होंने इस दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर भी हमला बोला और कहा, 'वहां ममता दीदी नहीं उतरने देतीं और यहां कमलनाथ दादा नहीं उतरने देते.' शिवराज ने कहा कि ये लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है, अधिकारियों को ईमानदारी से काम करना चाहिए, सरकारें तो बदलती रहती हैं.

वहीं चौरई में शिवराज सिंह ने सीएम कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा, 'अरे कमलनाथ हेलीकॉप्टर से नहीं जाने दोगे तो कार से जाएंगे और कार भी नहीं आने दी तो पैदल जाएंगे, लेकिन छिंदवाड़ा तो जाएंगे'. शिवराज सिंह चौहान ने छिंदवाड़ा में रोड शो भी किया.

Related News

लोक निर्माण विभाग में ऐसे होता है भ्रष्टाचार, बावड़िया कलां पुल निर्माण में बंटे करोड़ो

Nov 19, 2019

प्रवेश गौतम, भोपाल। मध्यप्रदेश में भले ही सरकार बदल गई हो, लेकिन कुछ नहीं बदला है तो वह है भ्रष्टाचार और बंदरबांट। अधिकारियों और नेताओं की मिलीभगत इस प्रकार है कि आम आदमी के पैसों की बर्बादी करने में किसी को कोई भी डर नहीं है। प्रदेश की राजधानी भोपाल के बावड़ियां कलां स्थित रेलवे ओवर ब्रिज :पुल: के निर्माण में भ्रष्टाचार इस कदर हुआ कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने ठेकेदार से बैंक...

Comment