• Tuesday, July 07, 2020

MP: नामांकन के बहाने शक्ति प्रदर्शन, आपस में भिड़े कांग्रेस-बीजेपी कार्यकर्ता

मध्यप्रदेश Apr 29, 2019       668
MP: नामांकन के बहाने शक्ति प्रदर्शन, आपस में भिड़े कांग्रेस-बीजेपी कार्यकर्ता

द करंट स्टोरी। इंदौर में नामांकन पत्र दाखिल करने का 29 अप्रैल को आख़िरी दिन था. ऐसे में बीजेपी और कांग्रेस दोनों दलों के नेताओं ने एक ही समय पर रैली शुरू कर दी.

इंदौर में आज (29 अप्रैल) बीजेपी औऱ कांग्रेस प्रत्याशियों की नामांकन रैली के दौरान दोनों दलों के कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई. नौबत हाथापाई तक जा पहुंची. खबर मिलते ही वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी बड़ी तादाद में पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंच कर उत्‍तेजित पक्षों को शांत कराया.

इंदौर में नामांकन पत्र दाखिल करने का आख़िरी दिन था. बीजेपी प्रत्याशी शंकर लालवानी और कांग्रेस के पंकज संघवी दोनों की नामांकन रैली थी. प्रशासन ने भाजपा को रैली के लिए 12 बजे तक का समय दिया था. 12 बजे के बाद कांग्रेस का समय था. कांग्रेस को राजवाड़े से नामांकन रैली निकालते हुए कलेक्ट्रेट तक पहुंचना था, लेकिन बीजेपी ने तय समय के बाद रैली शुरू की. वहीं, कांग्रेसी अपने तय समय पर राजवाड़ा पहुंच चुके थे.


दोनों तरफ से जोश से भरे कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए. वे अपने-अपने नेता के पक्ष में नारे लगा रहे थे. कार्यकर्ता कई बार आमने-सामने हुए. कई बार एक दूसरे के झंडे और बैनर के कारण आपस में भिड़े. बीजेपी प्रत्याशी शंकर लालवानी जब नामंकन भरने के लिए रवाना हुए तब रथ पर शिवराज सिंह चौहान सहित इंदौर के मौजूदा विधायक और पूर्व विधायक सहित बीजेपी के तमाम पदाधिकारी मौजूद थे.

कांग्रेस को दिए गए समय के मुताबिक, उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी समेत मंत्री सज्जन वर्मा वाहन में सवार होकर राजवाड़े पहुंच गए. उसी दौरान राजवाड़े पर जीतू पटवारी का वाहन जाम में फंस गया. कांग्रेस मंत्री का वाहन देख बीजेपी कार्यकर्ता मोदी-मोदी के नारे लगाने लगे. नामांकन रैली कांग्रेस और बीजेपी की शक्ति प्रदर्शन रैली बनकर रह गयी.

Related News

अगले तीन वर्ष में किसानों के लिए 2 लाख सोलर पम्प स्थापित किये जाएंगे

Jul 07, 2020

द करंट स्टोरी। अब-तक 14 हजार 250 सोलर पम्प स्थापित किये जा चुके हैं। अगले तीन वर्षों में 2 लाख सोलर पम्प लगाने का लक्ष्य है। सोलर पम्प से राज्य के किसानो कों सिंचाई का भरपूर लाभ मिलेगा। सोलर पम्प लगाने से राज्य की बिजली कम्पनी पर भी भार कम होगा। सोलर पम्प का ये भी लाभ होगा कि ताप विद्युत पर निर्भरता कम होगी और यह पर्यावरण संरक्षण में एक महत्वपूर्ण कदम होगा। मुख्यमंत्री...

Comment