• Wednesday, January 29, 2020
Breaking News

MP: नामांकन के बहाने शक्ति प्रदर्शन, आपस में भिड़े कांग्रेस-बीजेपी कार्यकर्ता

मध्यप्रदेश Apr 29, 2019       413
MP: नामांकन के बहाने शक्ति प्रदर्शन, आपस में भिड़े कांग्रेस-बीजेपी कार्यकर्ता

द करंट स्टोरी। इंदौर में नामांकन पत्र दाखिल करने का 29 अप्रैल को आख़िरी दिन था. ऐसे में बीजेपी और कांग्रेस दोनों दलों के नेताओं ने एक ही समय पर रैली शुरू कर दी.

इंदौर में आज (29 अप्रैल) बीजेपी औऱ कांग्रेस प्रत्याशियों की नामांकन रैली के दौरान दोनों दलों के कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई. नौबत हाथापाई तक जा पहुंची. खबर मिलते ही वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी बड़ी तादाद में पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंच कर उत्‍तेजित पक्षों को शांत कराया.

इंदौर में नामांकन पत्र दाखिल करने का आख़िरी दिन था. बीजेपी प्रत्याशी शंकर लालवानी और कांग्रेस के पंकज संघवी दोनों की नामांकन रैली थी. प्रशासन ने भाजपा को रैली के लिए 12 बजे तक का समय दिया था. 12 बजे के बाद कांग्रेस का समय था. कांग्रेस को राजवाड़े से नामांकन रैली निकालते हुए कलेक्ट्रेट तक पहुंचना था, लेकिन बीजेपी ने तय समय के बाद रैली शुरू की. वहीं, कांग्रेसी अपने तय समय पर राजवाड़ा पहुंच चुके थे.


दोनों तरफ से जोश से भरे कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए. वे अपने-अपने नेता के पक्ष में नारे लगा रहे थे. कार्यकर्ता कई बार आमने-सामने हुए. कई बार एक दूसरे के झंडे और बैनर के कारण आपस में भिड़े. बीजेपी प्रत्याशी शंकर लालवानी जब नामंकन भरने के लिए रवाना हुए तब रथ पर शिवराज सिंह चौहान सहित इंदौर के मौजूदा विधायक और पूर्व विधायक सहित बीजेपी के तमाम पदाधिकारी मौजूद थे.

कांग्रेस को दिए गए समय के मुताबिक, उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी समेत मंत्री सज्जन वर्मा वाहन में सवार होकर राजवाड़े पहुंच गए. उसी दौरान राजवाड़े पर जीतू पटवारी का वाहन जाम में फंस गया. कांग्रेस मंत्री का वाहन देख बीजेपी कार्यकर्ता मोदी-मोदी के नारे लगाने लगे. नामांकन रैली कांग्रेस और बीजेपी की शक्ति प्रदर्शन रैली बनकर रह गयी.

Related News

लोक निर्माण विभाग में ऐसे होता है भ्रष्टाचार, बावड़िया कलां पुल निर्माण में बंटे करोड़ो

Nov 19, 2019

प्रवेश गौतम, भोपाल। मध्यप्रदेश में भले ही सरकार बदल गई हो, लेकिन कुछ नहीं बदला है तो वह है भ्रष्टाचार और बंदरबांट। अधिकारियों और नेताओं की मिलीभगत इस प्रकार है कि आम आदमी के पैसों की बर्बादी करने में किसी को कोई भी डर नहीं है। प्रदेश की राजधानी भोपाल के बावड़ियां कलां स्थित रेलवे ओवर ब्रिज :पुल: के निर्माण में भ्रष्टाचार इस कदर हुआ कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने ठेकेदार से बैंक...

Comment