• Monday, August 19, 2019
Breaking News

चुनाव बीच नए सांसदों के स्वागत की तैयारी, संसद में सुमित्रा महाजन करेंगी बैठक

विविध May 03, 2019       118
चुनाव बीच नए सांसदों के स्वागत की तैयारी, संसद में सुमित्रा महाजन करेंगी बैठक

द करंट स्टोरी संसद भवन में लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने नवनिर्वाचित सांसदों के स्वागत की तैयारियों को लेकर एक बैठक बुलाई है. इस बैठक में लोकसभा सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे.

देशभर में लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व चुनाव अपने अंतिम दौर में पहुंच चुका है और 23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे आने हैं. 11 अप्रैल से शुरू होकर 19 मई तक 7 चरणों में मतदान की प्रक्रिया पूरी होगी और फिर 23 मई के नतीजों के बाद 17वीं लोकसभा का गठन होगा. इस बीच लोकसभा में नए सांसदों के स्वागत की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं और इसके लिए शुक्रवार को बैठक होने जा रही है.

संसद भवन में लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने नवनिर्वाचित सांसदों के स्वागत की तैयारियों को लेकर एक बैठक बुलाई है. इस बैठक में लोकसभा सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे. सुमित्रा महाजन इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ रही हैं और ऐसे में वह 17वीं लोकसभा में स्वीकर की भूमिका में नजर नहीं आएंगी. हालांकि जब तक प्रोटेम स्वीकर की नियुक्ति नहीं होती तब तक वह इस भूमिका में ही रहेंगी.

17वीं लोकसभा के लिए चल रहे चुनाव के नतीजों के बाद देश का प्रधानमंत्री तय होगा. मौजूदा एनडीए सरकार नरेंद्र मोदी की अगुवाई में चुनावी समर में उतरी है. नतीजों के बाद 3 जून से पहले नए प्रधानमंत्री का शपथ ग्रहण भी होगा क्योंकि 16वीं लोकसभा का कार्यकाल 3 जून को खत्म हो जाएगा. नतीजों के बाद ही विजयी सदस्यों को जीत का प्रमाणपत्र दे दिया जाएगा. हालांकि वह संसद सदस्य के तौर पर नई लोकसभा के गठन के बाद ही शपथ लेंगे.

नतीजों के बाद लोकसभा में सांसदों के बैठने की व्यवस्था से लेकर उनका बायोडाटा साइट पर अपडेट किया जाता है. साथ ही सुरक्षा बंदोस्त के चलते उनके पहचान कार्ड और वाहनों के लिए स्टीकर भी जारी किए जाते हैं. इन सभी तैयारियों में कुछ वक्त जरूर लगता है और यही वजह है कि अपने कार्यकाल में ही सुमित्रा महाजन इस तैयारियों को लेकर बैठक कर रही हैं.

पहले बार संसद पहुंचने वाले सांसदों में अलग उत्साह भी देखा गया है. लोकसभा चुनाव में विजयी होने के बाद कई सांसद साइकिल से भी संसद भवन पहुंचे थे. मीडिया का ध्यान खींचने के लिए कई सांसद खास तैयारियों करके पहली बार संसद भवन आते हैं क्योंकि देश की संसद पर पूरे देश की नजर रहती हैं. यहां से बनने वाले कानून देश के हर आम और खास व्यक्ति को प्रभावित करते हैं.

Related News

फोनी की तबाही रोक भारत ने दुनिया को बताया जानलेवा तूफानों से निपटने का तरीका, UN ने भी की तारीफ

May 04, 2019

द करंट स्टोरी। फोनी के प्रकोप का सामना करने वाले देश के राज्य ओडिशा ने दुनिया को सिखाया है कि किस तरह जानलेवा चक्रवाती तूफानों से निपटने की तैयारी की जाए और जनहानि को कम किया जाए। भुवनेश्वर (ओडिशा) :भीषण चक्रवाती तूफान फोनी के प्रकोप का सामना करने वाले ओडिशा ने दुनिया को एक बड़ी सीख दी है। राज्य प्रशासन ने अपनी बेहतर प्लानिंग से जनहानि को कई गुना कम करके एक मिसाल पेश की...

Comment