• Saturday, December 05, 2020
Breaking News

ट्रंप की हालत पर चिंता बढ़ी, डॉक्टरों ने कहा, खतरे से बाहर नहीं

विविध Oct 04, 2020       117
ट्रंप की हालत पर चिंता बढ़ी, डॉक्टरों ने कहा, खतरे से बाहर नहीं

द करंट स्टोरी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की स्वास्थ्य स्थिति पर चिंता व्यक्त की जा रही है, क्योंकि उनके डॉक्टर ने कहा कि कोरोना से संक्रमित 74 वर्षीय राष्ट्रपति अभी खतरे से बाहर नहीं हैं, जबकि ट्रंप ने भी इस बात को स्वीकार किया है कि अगले कुछ दिन उनके लिए असली परीक्षा होंगे।

ट्रंप की प्रवक्ता केलीग मैकनानी के माध्यम से जारी एक बयान में राष्ट्रपति के डॉक्टर शॉन कॉनले ने शनिवार रात कहा, "फिलहाल उनके खतरे से बाहर नहीं होने के बीच मेडिकल टीम सतर्कता के साथ आशावादी बनी हुई है।"

राष्ट्रपति ने भी एक वीडियो संदेश में कहा, "मुझे लगता है कि कुछ दिनों की अवधि में यह असली परीक्षा होगी, तो हम यह देखेंगे कि अगले कुछ दिनों में क्या होता है।"

वीडियो वाल्टर रीड नेशनल मेडिकल सेंटर में बनाया गया था जहां उनका कोविड-19 का इलाज चल रहा है।

शनिवार सुबह अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा एक ब्रीफिंग के बाद, ट्रंप के चीफ ऑफ स्टाफ मार्क मीडोज ने पत्रकारों को बताया, "हम अभी भी उनके पूरी तरह से ठीक होने को लेकर स्पष्ट रास्ते पर नहीं हैं। पिछले 24 घंटे राष्ट्रपति की सेहत के मद्देनजर चिंताजनक थे और अगले 48 घंटे उनकी देखभाल के लिहाज से बहुत अहम व गंभीर होंगे।"

3 नवंबर के चुनाव में अब बस तीस दिन शेष हैं और ट्रंप, जिन्होंने विवादास्पद रूप से बिना मास्क पहने रैलियों को संबोधित किया था, उन्हें अब अभियान के लिए नई रणनीति के साथ आना होगा।

उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन जिन्होंने पिछले महीने तक अपने घर से ज्यादातर इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रचार किया था, वह व्यक्तिगत रूप से प्रचार कर सकते हैं, जैसा कि शुक्रवार को उन्होंने मिशिगन में किया।

कोरोना संक्रमित ट्रंप को शुक्रवार शाम वाशिंगटन में वाल्टर रीड नेशनल मिल्रिटी मेडिकल सेंटर में भर्ती कराया गया, जबकि उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप व्हाइट हाउस में ही रह रही हैं।

Related News

रूस ने दूसरी कोविड-19 वैक्सीन के पंजीकरण के बाद परीक्षण शुरू किया

Nov 18, 2020

द करंट स्टोरी। रूस में कोविड-19 के खिलाफ 'एपिवैककोरोना' वैक्सीन के पोस्ट रजिस्ट्रेशन ट्रायल शुरू हो गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उपभोक्ता संरक्षण और कल्याण मामलों के रूसी संघीय सेवा के प्रमुख अन्ना पोपोवा ने मंगलवार को यह जानकारी दी। रूस अगस्त में एक कोविड-19 वैक्सीन को नियामक मंजूरी देने वाला पहला देश बना था, जब 'स्पुतनिक-वी' वैक्सीन को आधिकारिक तौर पर बड़े पैमाने पर नैदानिक परीक्षण (क्लीनिकल ट्रायल) के साथ पंजीकृत किया गया...

Comment